Romantic Shayari

Romantic Shayari in Hindi For Lover with Image - Classy Shayari.

औरों की तरह वो बक बक नहीं करती, अखियों से बहुत कुछ कह जाती है, जब भी याद आ जाए उसकी कभी, हम ही जानते हैं, दिल को कैसे समझते है..!!

बेक़रार दिल इस तरहा मिले जिस तरहा कभी हम जुदा न थे तुम भी खो गये, हम भी खो गये एक राह पर चलके दो क़दम, जायेंगे कहाँ सूझता नहीं, चल पड़े मगर रास्ता नहीं, क्या तलाश है. कुछ पता नहीं, बुन रहे है दिल ख़्वाब दम-ब-दम

उपर आसमान से टूटा तारा, उससे देखकर मैने रब को पुकारा रखे वो सलामत आपको हमेशा, टूटे ना कभी ये प्यारा रिश्ता हमारा

देखा है मैने भी कई खूबसूरत चेहरा. उन चेहरो मे कुछ खास लगता है एक चेहरा. कभी कुछ जाना पहचाना सा, कभी यू ही अनजाना सा लगता है वो चेहरा.

मैने होठो से कुछ भी कहा नही और, तुम्हे लगा के मैने कभी प्यार किया ही नही. मैने हमेशा तुम्हारी खुशी चाही पर, तुमने तो मुझे कभी समझा ही नही.

याद तो होगा तुझे भी, वो हसीन से लम्हे तेरे मेरे साथ के जब घंटों हम एक दूसरे का हाथ थमाके बातों में खोए रहते थे जब वक़्त का पता ही नही चलता था कैसे गुज़र जाया करता था डूबे रहते थे हम, गम से रहते थे हम एक दूजे की आँखों में...

ना जाने दिल को क्या हुआ है, यह किसी की ना सुनता है सिवा तुम्हारे, यह बात किसी की मानता नही

कोशिश होनी चाहिए, किसी को याद करने की, लम्हा तो अपने आप मिल जाएगा, वक़्त होना चाहिए, किसी से मिलने का बहाना तो अपने आप मिल जाएगा .

काश आपकी सूरत इतनी प्यारी ना होती, काश आपसे मुलाकात हमारी ना होती, सपनो में ही देख लेते हम आपको, तो आज मिलनी की इतनी बेकरारी ना होती

हाल दिल का तुम्हे सुनते अगर तुम पास होते, अश्क तुम्हारे साथ बहते अगर तुम पास होते, चाँदी रात की उन हसीन मुलाक़ातो को, फिर से एक बार दोहराते अगर तुम पास होते .

तुम्हे मैं जब भी देखता हूँ , मेरी निगाहे खामोश हो जाती हैं, लेकिन तेरी पलको के साए मैं आकर, तेरी इन्ही प्यारी झुलफो को देखतीहै

बातों बातों में उलझाना कोई आपसे सीखे, दिल को ऐसे बहलाना कोई आपसे सीखे, कैसे तड़पते हैं चाहने वाले को अपने, आधाओं से सितम करना कोई आपसे सीखे

देख ली मैने भी खुदाई तुझे पाकर... तेरे संग ज़िंदगी का हर लम्हा अच्छा है

हसरत है सिर्फ़ तुम्हे पाने की, और कोई ख्वाईश नही इस दीवाने की, शिकवा मुझे तुमसे नही खुदा से है, क्या ज़रूरत थी तुम्हे इतना खूबसरत बनाने की

जब तुझे पहली बार देखा था, वो भी था मौसम ए तरब कोई, याद आती है दूर की बातें, प्यार से देखता है जब कोई,

रब ने जो रिश्ता आसमान पर लिखा है उसे दुनिया मे निभाना है एक नाम तुम्हारा लिखना है एक नाम हमे बन जाना है