Romantic Shayari

Romantic Shayari in Hindi For Lover with Image - Classy Shayari.

आपके दिल में बसा हूँ, आपका ही प्यार हूँ. आपकी खातिर हमेशा मिटने को तैय्यार हूँ. एक पल को पास आकर, मुस्कुराकर देखिये, मैं कोई दुश्मन नहीं हूँ, आपका ही यार हूँ. ज़िन्दगानी के सफर में, सबकी अपनी मंज़िलें, मेरी मंज़िल सिर्फ तुम हो, मैं दीवानावार हूँ. एक अरसे से तमन्ना थी के तुम पहलू में हो, ऱूबरू पाकर के तुमको, देखिये गुलज़ार हूँ. गर मुहब्बत से मिलो तो नर्म हूँ मैं फूल सा, जो दिखाओ हेकड़ी तो मैं भी इक तलवार हूँ. डूबता रहता हूँ यूँ ही, हुस्न की गहराई में, मैं किसी दिलकश ग़ज़ल का, मोतवर अशआर हूँ. बेच देते हैं कलम, दौलत-ओ-शोहरत के लिये, अश्क मैं हरग़िज़ नहीं, ऐसा कोई फनकार हूँ.

आपके बगैर हम जीना भूल जाते हे, हमारे दिल के दर्द को सीना भूल जाते हे, आप मेरी ज़िंदगी मे बहोत प्यारे हो, ये बात हम आपसे कहेना भूल जाते हे.

इन आँखो मे कोई चहेरा नज़र आता है, आज उस वीरानी जगह पर कोई साया नज़र आता है. कभी कभी ये आँखे इस कदर नाम हो जाती है, की जब मूझे वो अपनी मुलाकात का ख़याल आता है.

कितना हसीन चाँद सा चेहरा है उसपे शबाब का रंग गहरा है खुदा को यकीन ना था वफ़ा पे तभी तो एक चाँद पे हज़ारो तारो का पहरा है

हमे तुम्हे से मोहब्बत है बेशाक़ इम्तहान ले लो. चाहे तो दिल ले लो चाहे जान ले लो.

इस ज़िंदगी मे आप पास रहो या दूर, हमारी दिल से दिल की आवाज़ मिला सकते है, ना खत के ना फोन के मोहताज़ है हम, पर आपके दिल को एक हिचकी से हिला सकते है हम.

अपनी ज़ुल्फ़ों को सितारों के हवाले कर दो शहर-ए-गुल बादागुसारों के हवाले कर दो तल्ख़ि-ए-होश हो या मस्ती-ए-इदराक-ए-जुनूँ आज हर चीज़ बहारों के हवाले कर दो मुझ को यारो न करो रहनुमाओं के सुपुर्द मुझ को तुम रहगुज़ारों के हवाले कर दो जागने वालों का तूफ़ाँ से कर दो रिश्ता सोने वालों को किनारों के हवाले कर दो मेरी तौबा का बजा है यही एजाज़ 'अवि' मेरा साग़र मेरे यारों के हवाले कर दो

केसे कहों मैं के अपना बना लो मुझे, बाहों मे अपनी तुम सामा लो मुझे, बिन तुम्हारे एक पल भी अब कट-ता नही मेरा, बस अब तुम आ कर मुझ ही से चुरा लो मुझे, ज़िंदगी तो वो है संग तुम्हारे जो गुज़रे, दुनिया के गमों से अब तो चुरा लो मुझे, मेरी सब से गहरी खुवहिश हो जाए पूरी, तुम अगर आज पास अपने बुला लो मुझे, ये काएसा नशा है जो बहका रहा है मुझे, अगर तुम्हारे हैं हम तो संभलो मुझे, नज़ाने फिर केसे गुज़रे गी अपनी ये ज़िंदगानी, अगर अपने दिल से कभी तुम जो निकालो मुझे .

चुपके से चाँद की रोशनी छू जाए आपको, धीरे से यह हवा कुछ कह जाए आपको, दिल से जो चाहते हो माँग लो खुदा से हम दुआ करते हैं मिल जाए वो आपको.

एक सपने की तरह तुझे सज़ा के रखूं, चाँदनी रात की नज़रों से छूपा के रखूं.. मेरी तक़दीर में तुम्हारा साथ नही, वरना सारी उमर तुझे अपना बना के रखूं ...

खूबसूरत सा कोई पल एक किस्सा बनजता है, ना जाने कब कोई ज़िंदगी का हिस्सा बन जाता है, ज़िंदगी मैं कुछ लोग ऐसे भी मिलते है, जिनसे कभी ना टूटने वाला रिश्ता बनजता है...

मेरी खामोशी मेरी आदत है, इन दूरियों में भी मेरी चाहत है, मेरी ज़िंदगी अगर खूबसूरत है, तो उसकी वजह आपकी मुस्कुराहट है...

माँगा था रब से तुज़े अब ज़िद भी करेंगे, खुद से लड़ते हे अब तो रब से भी लड़ेंगे, तुम्हारी कसम मेरे सनम अब हिम्मत नही हारेंगे, मर जाएगे पर तेरे सिवा किसी को नही चाहेंगे.

चाँद को हर एक साक्ष् चाहता हे ये आम बात हे, मगर चाँद किसको चाहता हे ये ख़ास बात हे, ज़िंदगी मे जीने के लिए क्या ज़रूरी हे ये आम बात हे, मगर जी रहे हो किसके लिए ये ख़ास बात हे.

परवाह कर उसकी जो तेरी परवाह करे, ज़िंदगी में जो कभी ना तन्हा करे, जान बन के उतार जाएगा उसकी रूह में, जो जान से भी ज़्यादा तुझसे वफ़ा करे.

कोई नज़र भी उठाए तेरी तरफ तो दिल धड़क जाता है...? ना जाने क्यूँ ऐसा लगता है के कोई चीन कर ले जाएगा तुझे मुझ से..