Romantic Shayari

Romantic Shayari in Hindi For Lover with Image - Classy Shayari.

तेरे लबों पर मुस्कराहट का साज़ अच्छा हैं.. शायद इन आँखों में मेरी तस्वीर का आगाज़ अच्छा है रुखसार पर लाली बिखरी हुई यूँ हया से.. शायद मेरे सवाल का जवाब अच्छा हैं. तेरे गेसुओ से सुलझने को एक उम्र बाकी हैं.. शायद मेरे उलझने का ये जाल अच्छा हैं. लफ्ज़ होठों से निकलते हैं मीठे राग की तरह.. शायद मेरे बहकने का ये साज़ अच्छा हैं. मचाता हैं शोर मेरी तबियत का अब ज़माना.. शायद इस रोग का इलाज अच्छा हैं

यू तो हर दिल में एक कशिश होती है हर कशिश में एक ख्वाहिश होती है मुमकिन नही सभी के लिए ताज महल बनाना लेकिन हर दिल में एक मुमताज़ होती है

पल पल हर पल कहता है ये पल, रुकना जिन्दगी नहीं, आ मेरे साथ चल, हाथ मेरे थाम ले तू , जायेगा किस्मत बदल, पल पल हर पल कहता है ये पल, रोज बदल्ती दुनिया में कौन जाने क्या होगा कल, दुनिया की इस भरी मेहफिल में, तेरा भी है कुछ रोल, पल पल हर पल कहता है ये पल, छुटे जो साथ मेरा तो, रह जायोगे हाथ मल, पल हर पल कहता है ये पल, रुकना जिन्दगी नहीं , आ मेरे साथ चल.

होते अगर पास तो कोई शरारत करते, लेकर तुम्हे बहो में मोहब्बत करते. देखते तेरी आँखो में नींद का खुमार, अपनी खोई हुई नींदो की शिकायत करते.

तेरी हर अदा मोहब्बत सी लगती हैं एक पल की भी जुदाई मुद्दत सी लगती हैं पहले नही सूचा था आब सूचने लगे हैं जिंदगी मे हर पल तेरी जररूरत सी लगती हैं

छुपाने से मेरी जानम कहीं क्या प्यार छुपता है ये ऐसा मुश्क है ख़ुशबू हमेशा देता रहता है। तुम को सब जानती हो फिर भी क्यों मुझको सताती हो...इसी को प्यार कहते हैं, इसी को प्यार कहते है.

अब छोटी छोटी बातों में, हम हस्ते थे , रोते थे , तब से तुमसे प्यार किया जब बिन मौसम बरसातो में, हम झूम झूम के गाते थे , तब से तुमसे प्यार किया जब चुप चुप के आधी रातों में, च्चत पे तारे गिनते थे , तब से तुमसे प्यार किया अब तो खुद भी भूल चुका हू, की काब्से तुमसे प्यार किया, बस इतना हे कह सकता हू, की सिर्फ़ तुमसे, तुम्ही से प्यार किया ..

फूल खिलते है बहारों का समा होता है, ऐसे मौसम में ही तो प्यार जवान होता है, दिल की बातों को होठों से नही कहते, यह फसाना तो निगाहों से बयान होता है. ..

कितनी हसरत से तकती मेरी आँखें तुझको, क्या कहूँ तुझसे कितनी प्यारी लगती है मुझको, दीवाना बनाया है तेरी अदाओ ने सनम

आप की यही बात हमको बेकरार करती है, आप मान की बात दिल मे चुपके क्यो रखते हो. मूज़े पता हे की आपको हमसे ही प्यार है तो, आप हमसे प्यार का इज़हार क्यो नही करते हो.

आँखो की गहराई को समज़ नही सकते, होंटो से कुछ कह नही सकते. कैसे बया करे हम आपको यह दिल का हाल की, तुम्ही हो जिसके बागेर हम रह नही सकते.

बेवजह हम वजह ढूनडते है तेरे पास आने को, ये दिल बेकरार है तुझे धड़कन में बसाने को, बुझी नही है प्यास इन होतो की अभी, ना जाने कब मिलेगा सुकून मेरे पयमानए को..

हम ने जब कभी भी खुशी महसूस की, हर कदम पे आप की कमी महसूस की. दूर रह कर भी आप की चाहत कम ना हुई, यह बात हम ने दिल से महसूस की.

एक शमा अंधेरे में जलाए रखना सुबह होने को है माहौल बनाए रखना कौन जाने वो किस गली से गुज़रें हर गली को फूलों से सजाए रखना

मीठी-मीठी यादें पलको मे सज़ा लेना साथ गुज़रे पल को दिल मे बसा लेना नज़र ना अओन दिल मे अगर मुस्कुरा कर मुझे सपनो मे बुला लेना.

आपके दिल में बसा हूँ, आपका ही प्यार हूँ. आपकी खातिर हमेशा मिटने को तैय्यार हूँ. एक पल को पास आकर, मुस्कुराकर देखिये, मैं कोई दुश्मन नहीं हूँ, आपका ही यार हूँ. ज़िन्दगानी के सफर में, सबकी अपनी मंज़िलें, मेरी मंज़िल सिर्फ तुम हो, मैं दीवानावार हूँ. एक अरसे से तमन्ना थी के तुम पहलू में हो, ऱूबरू पाकर के तुमको, देखिये गुलज़ार हूँ. गर मुहब्बत से मिलो तो नर्म हूँ मैं फूल सा, जो दिखाओ हेकड़ी तो मैं भी इक तलवार हूँ. डूबता रहता हूँ यूँ ही, हुस्न की गहराई में, मैं किसी दिलकश ग़ज़ल का, मोतवर अशआर हूँ. बेच देते हैं कलम, दौलत-ओ-शोहरत के लिये, अश्क मैं हरग़िज़ नहीं, ऐसा कोई फनकार हूँ.