Mohabbat Shayari

Top Mohabbat Shayari In Hindi.

मोहब्बत क्या होती हे ये हम नही जानते, ये ज़िंदगी को हम अपना नही मानते, दर्द इतने मिले हे के एहसास नही होता, अब कोई हमसे मोहब्बत करे ये विश्वास नही होता.

निगाहें मिल जाती हे तो इश्क़ हो जाता हे, पलखे उठे तो इज़हार हो जाता हे, ना जाने क्या नशा हे मोहब्बत में, के कोई अनजान भी ज़िन्दगी का हक़दार बन जाता हे.

अनजान बनके रहेना पर किसी से मोहब्बत मत करना, किसी अजनबी के लिए खुद को बेकरार मत करना, प्यारा सा जीवनसाथी मिले तो ज़िंदगीभर साथ निभाना, पर दिखावे के लिए किसी से मोहब्बत मत करना.

घर से बाहर कोलेज जाने के लिए वो नकाब मे निकली, सारी गली उनके पीछे निकली, इनकार करते थे वो हमारी मोहब्बत से और हमारी ही तसवीर उनकी किताब से निकली.

ज़रा तलाश तो करो मरे प्यार को अपने दिल में, अगर थोडा दर्द हो तो समज लेना के मोहब्बत अभी ज़िंदा हे.

रुक रुक के उनके साथ हमें एक चाहत सी हो गयी, बात करते करते हमें उनकी आदत सी हो गयी, उनसे मिल ने के लिए एक बैचनी सी रहती हे, न जाने दोस्ती निभाते निभाते हमें मोहब्बत सी हो गयी.

दुनियावालो का ये दस्तूर कैसा हे, मोहब्बत को पाने का ये कसूर कैसा, अगर मोहब्बत एक सजा हे तो, इंसान को मोहब्बत सिखानेवाला रब बेक़सूर कैसा.

कभी मेरे पास आओ तो मोहब्बत के किस्से सुनाऊंगा, किस्से कहते हे मोहब्बत तुम्हे भी कभी समझाउँगा.

इस दुनिया में मोहब्बत कि तक़दीर बदलती हे, शीशा तो वोही रहता हे पर तस्वीर बदलती हे.

होती नहीं मोहब्बत सूरत हे, मोहब्बत तो दिल से हो जाती हे, सूरत उनकी खुद हे प्यारी लग जाती हे, कदर जिन कि दिल में होती हे.

उन्हो ने कहा कौन हो तुम, हमने कहा हसरत हे तेरी, उन्हो ने कहा पागल हो क्या, हमने कहा ऐसा हे समजलो, उन्हो ने कहा क्या करते हो, हमने कहा पूजा आपकी, उन्हो ने कहा काफ़िर हो क्या, हमने कहा सोच आपकी, उन्हो ने कहा प्यार करते हो क्या,हमने कहा मोहब्बत आपकी, उन्हो ने कहा पछताओ गे आप, हमने कहा किस्मत हमारी.

मोहब्बत की हर एक रसम निभाई थी मैने, तुम्हारा प्यार पाने के लिए सब कश्ती दुबई थी मैने. पर आपने ना कदर की मेरी वफ़ाई की यहा, तुम्हारी मोहब्बत मे हर खुशी लुटाई थी मैने.

मोहब्बत हर एक को जीना सीखा देती हे, वफ़ा के नाम पर मरना भी सीखा देती हे, मोहब्बत नही की तो करके देखो, ज़ालिम हर एक दर्द सहेना सीखा देती हे .

आप हस्ते हो तो खुशी हमे होती हे, आपकी नाराज़गी से आँखे मेरी रोती हे, आपकी दूरी से बैचाईन हम होते हे, महसुस जब करोगे पता चलेगा मोहब्बत ऐसी होती हे.

मोहब्बत मे करने लगा हू, उलझने मे जीने लगा हू, दीवाना तो मे था लकिन, तेरा दीवाना मे होने लगा हू.

हमारी नज़रो से नज़र मिला कर तुम, हमारे दिल को तड़पाती क्यू हो. तुमको हमसे मोहब्बत ही नही है तो, हमे देख कर मुस्कुराती क्यू हो.