Janmashtami Shayari

Janmashtami Shayari In Hindi with Krishna Image - August 2020.

राधा की भक्ति मुरली की मिठास, माखन का स्वाद और गोपियों का रास, सब मिलके बनाते हैं जन्माष्टमी का दिन ख़ास।

माखन चुराकर जिसने खाया बंसी बजाकर जिसने नचाया, खुशी मनाओ उसके जन्मदिन की, जिसने दुनिया को प्रेम का पाठ दिखाया

गोकुल में हैं जिनका वास, गोपियों संग जो करे रास, देवकी-यशोदा जिनकी मैया, ऐसे हमारे किशन कन्हैया

पलकें झुकें , और नमन हो जाए…….!! मस्तक झुके, और वंदन हो जाए……!! ऐसी नज़र, कंहाँ से लाऊँ, मेरे कन्हैया कि आपको याद करूँ और आपके दर्शन हो जाए..!! कृष्णा जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाये

राधे -राधे जपो चले आएंगे बिहारी, आएंगे बिहारी चले आएंगे बिहारी। राधे – राधे।

पल पल हर पल तुमको पुकारू जनम जनम से बाट निहारु कर दे कृपा तोपे तन मन वारू अपने बाग का फूल समझ कर प्रेम करो कृष्णा प्रेम करो कृष्णा..

माखन चुराकर जिसने खाया, बंसी बजाकर जिसने नचाया, ख़ुशी मनाओ उनके जन्मदिन की, जिसने दुनिया को प्रेम का रास्ता दिखाया।

बाल रूप है सब को भाता माखन चोर वो कहलाया है, आला आला गोविंदा आला बाल ग्वालों ने शोर मचाया है, झूम उठे हैं सब ख़ुशी में, देखो मुरली वाला आया है, कृष्णा जन्माष्टमी की बधाई!

गाय का माखन, यशोधा का दुलार, ब्रह्माण्ड के सितारे कन्हैया का श्रृंगार। सावन की बारिश और भादों की बहार, नन्द के लाला को हमारा बार-बार नमस्कार।

पवित्र पर्व आज का दिन हैं लिया जनम हमारे कृष्णा ने जिसके लिए सर्वत्र ब्रह्माण्ड प्रसन्न हैं जय किशन, जय किशन जय घोष से विश्व धन्य हैं जय श्री कृष्णा

लोगो की रक्षा करने एक उंगली पर पहाड़ उठाया उसी कन्हैया की याद दिलाने जन्माष्टमी का पावन दिन आया