Dosti Shayari

Latest Dosti Shayari In Hindi.

दोस्ती इम्तिहान नही विश्वास मांगती है, नज़र और कुछ नही दोस्त का दीदार मांगती है, ज़िंदगी अपने लिए कुछ नही पर आपके लिए, दुआ हज़ार मांगती है

कभी अनकही बातों की अदा है दोस्ती, कभी गम की दवा है दोस्ती, कमी है पूजने वालों की, वरना ज़मीन पर खुदा है दोस्ती.

दोस्ती का रिश्त्ता दो अंजानो को जोड़ देता है, हर कदम पेर ज़िंदगी को न्या मोड़ देता है, सक्चा दोस्त साथ देता है तब, जब अपना साया भी साथ छोड़ देता है.

दोस्ती तो सिर्फ़ इत्तेफ़ाक़ है, यह तो डिलन की मुलाक़ात है दोस्ती नही देखती ये दिन है की रात है इसमे तो सिर्फ़ वफ़ादारी और जज़्बात है.

बहुत खूबसूरत है यह साथ तुम्हारा, बना दीजिए इससे किस्मत हमारी, उसे और क्या चाहिए दुनिया मे, मिल गयी हो जिसे दोस्ती तुम्हारी.

दोस्ती नज़रों से हो तो उससे कुद्रत कहते है, सितारों से हो तो जन्नत कहते है, आँखों से हो तो मोहब्बत कहते है, और दोस्ती आप से हो तो किस्मत कहते है.

अच्छा दोस्त एक फूल की तरह होता हे जिसे हम छोड़ भी नही सकते ओर तोड़ भी नही सकते , तोड़ दिया तो मुरझा जाए गा और छोड़ दिया तो कोई और ले जाए गा.

यकीन पे यकीन दिलाते हैं दोस्त, राह चलते को बेवकूफ़ बनाते हैं दोस्त, शरबत बोल के दारू पिलाते हैं दोस्त, पर कुछ भी कहे साले बहुत याद आते हैं दोस्त.

वक्त बदल जाता है जिंदगी के साथ जिंदगी बदल जाती है वक्त के साथ वक्त नहीं बदलता दोस्तों के साथ बस दोस्त बदल जाते हैं वक्त के साथ

हकीकत मोहब्बत की जुदाई होती है कभी कभी प्यार में बेवफाई होती है , हमारे तरफ हात बढ़ाके कर तो देखो पता चलेगा के दोस्ती में कितनी सच्चाई होती है।

यूँ तो महफिलें कभी उदास नही होती दोस्ती की मंज़िल पास नही होती पर होता है ज़िंदगी में कभी-कभी ऐसा भी मिल जाते हैं वो जिन की आस नही होती

हमसे दोस्ती निभाते रहना हर मोड़ पर आज़माते रहना, लेकिन दूर कभी मत होना, चाहे सारी उम्र भर सताते रहना .

दोस्ती किसी की रियासत नही होती, ज़िंदगी किसी की अमानत नही होती, हमारी सलतनत मैं देख कर क़दम रखना, क्योकि हमारी दोस्ती की क़ैद मैं ज़मानत नहीं होती

ज़िंदगी रहे ना रहे, दोस्ती रहेगी, पास रहे ना रहे, यादें रहेगी, अपनी ज़िदगी में हमेशा हस्ते रहना, क्यूंकी आपकी हसी मे 1 मुस्कान मेरी भी रहेगी.

दिल को दिल से चुराया तुमने, दूर होते हुए भी अपना बनाया तुमने, कभी भूल नही पाएँगे तुमको ए दोस्त, क्योंकि दोस्ती करना सिखाया तुमने.

इश्क़ और दोस्ती मेरी ज़िंदगी का उंवान है इश्क़ मेरी रूह और दोस्ती मेरा ईमान है इश्क़ पे करदो फिदा मे अपनी सारी ज़िंदगी मगर दोस्ती पर मेरा इश्क़ भी क़ुरबान है