हिंदी शायरी

Random Hindi Shayari

मेरी दुनिया में आया एक मुसाफिर ऐसे, कोई पहले की जान पहचान हो जैसे.. मिले हम उनसे और वो हुमसे कुछ इस तरहा से, कोई बरसों से बिछड़े हुए हों जैसे.. दिल में प्यार फिर इश्क़ उतरा कुछ ऐसे, और कोई ज़िंदगी में गुंजाइश ना हो जैसे.. बता दो आए मुसाफिर जाना कहाँ हैं वैसे, अकेले ये सफ़र तय करोगे तुम कैसे.. मिल गये हो तो अब रहना कुच्छ इस तरहा से, की साए भी एक से हो जाएँ जैसे.. दो मंज़िलें बन जायें अब एक ऐसे, खुदा ने कोई दुआ क़बूल कर दी हो जैसे ...!!
Hindi Shayari

वो ज़िंदगी ही क्या जिसमे मोहब्बत... Mohabbat Hindi Shayari

वो ज़िंदगी ही क्या जिसमे मोहब्बत नही, वो मोहब्बत ही क्या जिसमे यादें नही, वो यादें क्या जिसमे तुम नही, और वो तुम ही क्या जिसके साथ हम नही.

Topics You May Like

Best Mohabbat Shayari