हिंदी शायरी

Random Hindi Shayari

मेरे खातिर दुनिया की महफिल नहीं वहाँ पे मैं नहीं, जहाँ पे दिल नहीं इश्क सच्चा हो तो वो तमाशा क्यूँ बने दर्द ऐसा नुमाइश के काबिल नहीं आज की रात तू मेरे पहलू में नहीं चाँद से आज कुछ भी हासिल नहीं
Hindi Shayari

तड़पति निगाहो ने हर वक़्त आपका... Mohabbat Hindi Shayari

तड़पति निगाहो ने हर वक़्त आपका दीदार चाहा, जैसे अमावस ने हर रात चाँद को चाहा, खुदा भी हमसे नाराज़ हो गये, जब हमने ज़िंदगी की हर दुआ मे उनका साथ चाहा.

Topics You May Like

Best Mohabbat Shayari