हिंदी शायरी

Random Hindi Shayari

तेरे होने पर भी खुद को तनहा समझूँ में बेवफा हु, के तुजे बेवफा समझूँ, तेरी बेरुखी से वक़्त तो गुज़र गया हें मेरा यह खुद्दारी हें, तेरी या तेरी अदा समझूँ तेरे बाद क्या हाल हुआ हें, मेरा ये तेरी इनायत हें या समझूँ ज़ख़्म देती हो और मरहम भी लगाती हो यह तेरी आदत हें या तेरी अदा समझूँ.

Hindi Shayari

ना जाने कितने घायल हो गये है, या इस... Shero Hindi Shayari

ना जाने कितने घायल हो गये है, या इस नज़ारो के तीर ना चलाया कीजिए, खुदा के कहर से दर ज़ालिम, या ना इश्क़ मैं किसी को आजमाया कीजिए.

Topics You May Like

Best Shero Shayari