हिंदी शायरी

Random Hindi Shayari

कैसी ये मोहब्बत की शुरुवत हुई है, खुद मुझसे जुड़ा आज मेरी ज़ात हुई है, जाता है उसी सिम्त मेरी सोच का धारा, जिस शख्स के हाथों से मुझे मात हुई है, फूलों की मोहब्बत ने मुझे दिन ये दिखाए, काँटों की चुभन शामिल-ए-हालत हुई है.

Hindi Shayari

Mujhe Bhi Sam-et Legi Ek Roz, Us... Sorry Hindi Shayari

Mujhe Bhi Sam-et Legi Ek Roz, Us Andhere Ghar Ki Dahlez, Tumse Guzaarish He Ki Maaf Kar Dena, Un-Khataon Ko Jinse Dil Dukha Ho Tumhara