हिंदी शायरी

Random Hindi Shayari

Mohabbat ka koi rang nahi, fir bhi woh rangin hai Pyar ka koi chehra nahi, phir bhi woh hasin hai.

Hindi Shayari

तेरे होने पर भी खुद को तनहा समझूँ... Bewafa Hindi Shayari

तेरे होने पर भी खुद को तनहा समझूँ में बेवफा हु, के तुजे बेवफा समझूँ, तेरी बेरुखी से वक़्त तो गुज़र गया हें मेरा यह खुद्दारी हें, तेरी या तेरी अदा समझूँ तेरे बाद क्या हाल हुआ हें, मेरा ये तेरी इनायत हें या समझूँ ज़ख़्म देती हो और मरहम भी लगाती हो यह तेरी आदत हें या तेरी अदा समझूँ.

Photo Shayari in Hindi: Download and Share Bewafa Shayari Image
Bewafa Shayari
Bewafa Shayari
Download Bewafa Shayari Image

Topics You May Like