हिंदी शायरी

Random Hindi Shayari

जिस गल की हसरत थी ज़िंदगी मे हमे, शायद वो गल किसी गुल्लिस्ता मे खिला हे नही, जिस मोहब्बत की आरज़ू थी हमे ज़िंदगी मे, ऐसे मोहब्बत कभी आज तक हमे मिली हे नही.

Hindi Shayari

उसे गलियों मे, चौबारों मे पागलों की... Dard Bhari Hindi Shayari

उसे गलियों मे, चौबारों मे पागलों की तरहा ढूंढता रहा ना मिली मुझे कहीं, जाने कहाँ छिपती छिपाती रही मैं दीवाना उसको याद करके , उससे दूर बस तड़प्ता रहा वो दूर कहीं बैठ के मेरा दर्द देख बस मुस्कुराती रही.

Photo Shayari in Hindi: Download and Share Dard Bhari Shayari Image
Dard Bhari Shayari
Dard Bhari Shayari
Download Dard Bhari Shayari Image

Topics You May Like

Best Dard Bhari Shayari